Skip to main content

Posts

Showing posts from January 4, 2015

पुनर्जन्म

अबजाननाचाहतेहो मेरीमौतकाकारण ?? यादनहीं- सड़ीगलीरिवायतोंकी बोझिलमान्यताओंकी लिजलिजीसोचकी आडम्बरयुक्तरिश्तेकी ज़िम्मेदारियोंकेबोझकी ज़हरीलीघुट्टी तुमनेहीतोपिलाईथी। बचपनमेंही मेरेकोमलमनपे गोदाथातुमने दकियानूसीतालीमको, दर्दसेकराहीथीमैं रोनाभीचाहतीथी लेकिनज़हरकेअसरने छीनलियाथाहक़ - रोनेका सवालपूछनेका अपनीबातेंकहनेका आज़ादीकीसांसलेनेका। मैंनेभीसमेटलियाखुदको अपनेहीखोलमें तुमसबमेरीहंसीदेखतेरहे लेकिनवोतोखोखलीथी मैतुम्हारेपासबैठकरसुडोकुखेलती परदिमागतोउलझाथाज़िन्दगीकेजालमें मैंअभीमरनानहीचाह्तीथी