Friday, July 25, 2008

(२)


एक तरफ़
पूर्णमासी का चाँद
तुम चांदनी

(१)







पलकों से गिरे

आँसू, बन गए मोती

बेशकीमती रत्न ।